Anand Kumar
yesterday at 15:04. Facebook
छत्तीसगढ़ के दंतेवारा जिले में एजुकेशन सिटी में आयोजित एक कार्यक्रम में जाने का सौभग्य मिला | सात हज़ार से भी अधिक स्टूडेंट्स मुझे सुनाने आये हुए थे | घोर नक्सल प्रभावित जिले होने के बावजूद भी मैंने बच्चों में पढने की गजब लालसा देखी | अब मैं भी सोच रहा हूँ कि इन बच्चों के लिए मैं क्या कर सकता हूँ | इस कार्यक्रम के दरमियान माननीय मुख्यमंत्री श्री रमण सिंह जी ने जो मुझे सम्मान दिया उसे मैं कभी...
View details ⇨
संदीप दास जी अच्छा लगा सुनकर कि आपको ग्रैमी-अवार्ड मिला है | बहुत ज्यादा ख़ुशी इसलिए भी हुई कि आप मेरे ही शहर के हैं और मेरे मित्र भी | बधाई हो | एक बार पुराने सभी दृश्य मेरे मष्तिक में घूम गए | बचपन में आपका तबला सुनाने से लेकर अमेरिका में आपसे मुलाकात तक के |

[ Financialexpress.com Link ]
It was really a very enjoyable experience teaching mathematics to students at Tribhuvan School today in Patna. With the students responding and enthusiastic to learn, indicating their proper mentoring at the crucial age, I loved being there.
आज पटना पुस्तक मेला में वरिष्ठ पत्रकार संजय सिन्हा द्वारा लिखित पुस्तक ‘आत्महत्या- चलना ही जिंदगी है चलती जा रही है’ के लोकार्पण के लिए प्रभात-प्रकाशन द्वारा आमंत्रित था | पुस्तक बड़े अच्छे तरीके से लिखी गयी है | लेखक ने किताब के माध्यम से युवाओं को उत्साहित किया गया है | उन्होंने कहा है कि कभी निराश न हों | जिंदगी में और भी कई रास्ते हैं | धन्यवाद अनीश–अंकुर | क्या कार्यक्रम का संचालन किया...
View details ⇨
बहुत ही दुःख हुआ | जब मुझे पता चला कि श्री कैलाश सत्यार्थी के घर चोरी हुई और चोरे उनका नोबल-प्राइज की प्रतिकृति भी लेकर चले गए | श्री कैलाश सत्यार्थी देश ही नहीं पूरी दुनिया के धरोहर हैं | यह तो मेरा सौभग्य है कि सत्यार्थी जी मुझे अपने छोटे भाई जैसे मानते हैं | उनकी विशेष सुरक्षा की ब्यवस्था के लिए मैंने आज गृह-मंत्रालय, भारत सरकार को लिखा है ताकि इस तरह की घटना की पुनरावृति न हो |

I really...
View details ⇨
कुछ दिनों पहले फिल्म निर्माता-निर्देशक विकास बहल के साथ मुंबई में बैठा था | उन्होंने जिद की कि चले एक अवार्ड फंक्शन में | स्टार टीवी द्वारा आयोजित स्क्रीन-अवार्ड फंक्शन में कुछ देर बिताया था |

Few days ago I was sitting in Mumbai with film director and producer Vikas Bahl. He insisted that I should accompany him to an Award function. I spent some time at the screen award function organised by...
View details ⇨
वक्त की अपनी जुबाँ होती है। समय छुपके से अपना काम करती है। ज़िन्दगी की बेहिसाब बिखरी यादों में कुछ यादें अभी भी आँखों पर ठहरी हुई हैं | आज एक कार्यक्रम में बतौर अतिथि मुज़फ़्फ़रपुर गया हुआ था | तब मेरे स्कूल के बीते दिन याद आ गये | मैं सरकारी स्कूल “पटना हाई स्कूल” का स्टूडेंट्स था | स्कूल में एक भव्य-कार्यक्रम का आयोजन किया गया था | तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री जगन्नाथ मिश्र जी आने वाले थे | सभी...
View details ⇨
माँ शारदे तू निष्ठुर न बन,
खोल दे तू निज नयन |
द्वारे खड़े हैं तुम्हारे,
माँ शारदे, माँ शारदे |
In the just concluded program on NDTV 'We the People' I presented my views. The Issue was the consistently rising fee structure in the private schools and it's solutions. You can watch the program on NDTV website.
गणतंत्र दिवस की शुभकामनायें !
आई. आई. टी. खड़गपुर के एनुअल फेस्ट में बोलकर बहुत ख़ुशी हुई | स्टूडेंट्स का उत्साह देखते ही बन रहा था | हाँ, इस बात का थोड़ा अफ़सोस जरूर रहा कि वहाँ सुपर 30 के पढ़ रहे स्टूडेंट्स को थोड़ा और समय नहीं दे पाया | लेकिन करता क्या, समय की अपनी पाबन्दी और सीमायें हैं |

I became happy to speak at the IIT Kharagpur annual fest. The enthusiasm of students was seen to be believed....
View details ⇨
प्रोफेसर कपिल कुमार जी आपका बहुत-बहुत धन्यबाद जो आपने मुझे अपने परिसर एन.आई.टी. दिल्ली में लेक्चर के लिए बुलाया | आपकी मेहमाननवाजी और प्रेम से मैं अभिभूत हो गया | स्टूडेंट्स के लगातार तालियों की गड़गड़ाहट एक लम्बे अरसे तक मेरे कानों में गूंजते रहेगी |
It was an enjoyable morning, as I left with my son to collect his report card. He did well and that made our journey more joyous on return.
Today in Patna, I was invited at the reputed business school L N Mishra Institute as a chief guest for the alumni meet. In my speech, I gave a suggestion that they should honour those youth every year who have brought change in the society or are using their management skills for social welfare. Management skills should aim at making a difference in the society.
मकर-संक्रांति की ढेरों सारी शुभकामनाएं !
स्वामी विवेकानंद जी के उपदेश हमेशा मेरे लिए प्रेरणा-श्रोत रहें हैं | “ जैसा तुम सोचते हो उसी तरह तुम करने लग जाते हो और फिर वैसे ही बन जाते हो ” उनकी इस वाणी को मैंने अपने जीवन में भी अनुभव किया है | आज जन्मदिन के सुअवसर पर उनको शत-शत प्रणाम |
आज एन.टी.पी.सी. के अधिकारियो का बड़ा ग्रुप सुपर 30 के स्टूडेंट्स से मिलाने मेरे घर आया हुआ था | उनलोगों ने एक क्विज का आयोजन किया और बच्चों में प्राइज भी बांटा | यही नहीं बल्कि उनलोगों ने सभी बच्चों जो इस प्रतियोगिता का हिस्सा बने को एक कम्बल, एक बैग, एक टेबल लैंप तथा वाटर बोतल देकर का उनका उत्साह बढाया | धन्यवाद | तहे दिल से धन्यबाद |
जब वक्त बेहिसाब बेरहमी करता है तब इंसान टूट जाता है। कुदरत की ऐसी ही बेरूखी का जीता जागता है गवाह है राहुल। पिता कैलाश सिंह बघेल मध्य प्रदेश के इटारसी जंक्शन के प्लेटफार्म पर घूम-घूम कर खाने का कुछ सामान बेचते हैं | एक तो निर्धनता ही अपने-आप में श्राप थी और दूसरे हाई वोल्टेज के तार से माँ को बचाने के दरमियान राहुल ने अपने दोनों हाथों को खो दिये। लगभग दो साल पहले राहुल अपने पिता के साथ मेरे पास...
View details ⇨
The book on 'Super 30', released this year, has had an overwhelming response. It sold much more than expectation. Amazon put in the category of 'memorable book of the year'. Biju Mathew was awarded in Canada by two different legislators Marc Dalton and Dr. Doug Bing for the outstanding success of the book. I want to thank witters Biju Bhai and Arun Kumar from the core of my heart for the...
View details ⇨