FBVideoDownloader.info is a facebook video downloader online, this tool helps you download facebook videos by grabs direct links to download and save for free
नेताओं और सरकारों को कमज़ोर वर्गों की परवाह करनी होगी, वो अपनी इस ज़िम्मेदारी से पीछे नहीं हट सकते
भारतीयों की ईमानदारी की कमाई को रातोंरात खत्म किये जाने और नए नोटों तक सीमित पहुंच के घाव बहुत गहरे हो गए हैं, ये जल्द नहीं भर पाएंगे.
मैंने कभी नहीं सोचा था कि एक दिन मैं अपने ही देशवासियों को पैसे के लिए अंतहीन लाइन में इंतजार करते देखूँगा
इस स्थिति को और भयावह बनाते हुए सरकार ने 2000 रुपये का नोट लाकर भविष्य में गुप्त धन को बनाने के तरीके और आसान कर दिए हैं।
इस निर्णय से नगद में कमाने वाले ईमानदार हिन्दुस्तानियों को 'भारी नुकसान' होगा. बेईमान और काले धन वाले 'हल्की-सी चोट के बाद' बच निकलेंगे.
विमुद्रीकरण से आम आदमी की जीविका और उनकी बचत को उजाड़ना भीषण त्रासदी है
विमुद्रीकरण के संदर्भ में एक लोकप्रिय कहावत प्रासंगिक और महत्वपूर्ण चेतावनी भी है कि 'नेक इरादे भी नरक का मार्ग प्रशस्त करते हैं'
बिना सोचे-समझे मोदी सरकार ने भारतीयों के विश्वास को चकनाचूर किया, जो लोगों ने अपनी और अपने धन की रक्षा करने के लिए सरकार में दर्शाया था
Its the biggest scam in India's history. If the Government allows me to speak, shall reveal everything in Lok Sabha.
प्रधानमंत्री पूरे देश में भाषण दे रहे हैं,
लेकिन लोक सभा में आने से डर रहे हैं
Leaders greetings Congress President, Smt. Sonia Gandhi on her birthday
Read former PM Dr Singh's article on Demonetisation, "Making of a mammoth tragedy."
[ Thehindu.com Link ]
Demonetisation is not a bold decision but a foolish one.
एक सिद्धांत को वास्तविकता के साथ संतुलित किया जाना चाहिए.
कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गाँधी के जन्मदिवस पर उनकी अच्छी सेहत और लम्बी आयु की कामना करते हैं
Demonetisation will help only a select few, and they will earn from every single transaction.
प्रधानमन्त्री जी लगातार भाग रहे हैं, हम चाहते हैं वो संसद में आकर बात करें और हम यहाँ उन्हें भागने नहीं देगें
PM is changing his narrative on Demonetisation. He jumped from black money to terrorism to counterfeit currency & now to cashless economy.
लाखों की संख्या में श्रमिक बेरोज़गार हो चुके हैं, भुखमरी की कगार पर हैं. इन सब के लिए कौन ज़िम्मेदार है?
नोटबंदी के 30 दिन बाद हाल ए जनता