कौन बड़ा कौन छोटा
ये पहेली राज है
जो है करीब मेरे "श्याम" के
उनकी तो बात ही कुछ खास है
मत भूलो "श्री श्याम" नाम को,
जाना सागर पार है..
जीवन है छोटी सी नैया,
श्याम" नाम पतवार है..

जय श्री श्याम जी
#prakashgadia
ॐ श्री गणेशाय नमः
सूंड़ सून्डाला दूँद दूँदाला,
#prakashgadia
beautiful art
Lord shiva painting
#naina_rathi
~ Jai Sri Laxmi Hari ~
#prakashgadia
जय श्री राम

श्री संकटमोचन हनुमान

बाल समय रवि भक्षी लियो तब,
तीनहुं लोक भयो अंधियारों I
ताहि सों त्रास भयो जग को,
यह संकट काहु सों जात न टारो I
देवन आनि करी बिनती तब,
छाड़ी दियो रवि कष्ट निवारो I
को नहीं जानत है जग में कपि,
संकटमोचन नाम तिहारो I

लाल देह लाली लसे, अरु धरि लाल लंगूर I
वज्र देह दानव दलन, जय जय जय कपि सूर II
#prakashgadia
विष्णु पत्नी लक्ष्मी माता की जय
जय हो
जय हो
#naina_rathi

राधा नाम अनमोल बोलो राधे राधे,
श्याम नाम अनमोल बोलो राधे राधे ..

ब्रह्मा भी बोले राधे, विष्णु भी बोले राधे,
शंकर के डमरु से आवाज आये राधे राधे ..

गंगा भी बोले राधे यमुना भी बोले राधे,
सरयू की धार से आवाज आये राधे राधे ..

चंदा भी बोले राधे सुरज भी बोले राधे,
तारो के मंडल से आवाज आये राधे राधे ..

गैया भी बोले राधे बछडा भी बोले राधे,
दूध की धारा से आवाज आये राधे राधे ..

गोपी भी बोले राधे...
View details ⇨
जयः शिव शंकर भोले भंडारीः
नील् कंठेश्वोर डम्रूवाले त्रीशुल धारीः
शिव कैलाशी कला बिहारीः
तुम्हारी लीला हे जग्मे न्यारीः
हर भक्तों की इच्छ्या पुरी कर्ना:
एही तुम्शे गुजारिश हे हामारीः
ॐ नमः शिवायः
#prakashgadia
आज का भव्य श्रंगार श्याम बाबा खाटूश्यामजी
श्री महालक्ष्मी
श्रीलक्ष्मि श्रीमहालक्ष्मि क्षीरसागरकन्यके
उत्तिष्ठ हरिसम्प्रीते भक्तानां भाग्यदायिनि ।
उत्तिष्ठोत्तिष्ठ श्रीलक्ष्मि विष्णुवक्षस्थलालये
उत्तिष्ठ करुणापूर्णे लोकानां शुभदायिनि ॥ १॥
श्रीपद्ममध्यवसिते वरपद्मनेत्रे
श्रीपद्महस्तचिरपूजितपद्मपादे ।
श्रीपद्मजातजननि शुभपद्मवक्त्रे
श्रीलक्ष्मि भक्तवरदे तव सुप्रभातम् ॥ २॥
जाम्बूनदाभसमकान्तिविराजमाने
तेजोस्वरूपिणि सुवर्णविभूषिताङ्गि...
View details ⇨
यह कौनसा मंदिर है ????
जय गजाननः
वक्रतुण्ड महाकाय सूर्य कोटी समप्रभा
निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्व-कार्येशु सर्वदा
ॐ गणेशाय नमः
#prakashgadia
जय लक्ष्मी नारायण की।
विष्णु पत्नी लक्ष्मी माता की जय ।
#naina_rathi
ॐ नव दुर्गा नमः
ॐ जगजननी नमः
#prakashgadia
*बिना हक का*
*जब लेने का मन होता है*

*वहाँ,महाभारत, की*
*शुरुआत होती है ,,,,*

*जब अपने हक का भी*
*छोड़ देने का मन होता है*

*वहां ,रामायण, की*
*शुरुआत होती है ,,,,*

*जय श्री कृष्णा*
#nainarathi
अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहं
दनुजवनकृशानुं ज्ञानिनामग्रगण्यम्‌।
सकलगुणनिधानं वानराणामधीशं
रघुपतिप्रियभक्तं वातजातं नमामि॥

भावार्थ:-अतुल बल के धाम, सोने के पर्वत (सुमेरु) के समान कान्तियुक्त शरीर वाले, दैत्य रूपी वन (को ध्वंस करने) के लिए अग्नि रूप, ज्ञानियों में अग्रगण्य, संपूर्ण गुणों के निधान, वानरों के स्वामी, श्री रघुनाथजी के प्रिय भक्त पवनपुत्र श्री हनुमान्‌जी को मैं प्रणाम करता...
View details ⇨
विभत्स हूँ
विभोर हूँ
मैं ज़िंदगी में चूर हूँ
घनघोर अँधेरा ओढ़ के मैं जन जीवन से दूर हूँ
शमशान में हूँ नाचता
मैं मृत्यु का ग़ुरूर हूँ
हर हर महादेव......❤❤
#prakashgadia
साँवरे चुन-चुन कर, शब्द नए,
किस्से, वही, हर बार लिखुँ,

तेरी, इन, नशीली आँखों मे,
अपना, सारा, संसार लिखुँ,

मैं, विरह की वेदना, लिखुँ,
या मिलन की, झँकार लिखुँ,

तू ही बता, थोड़े शब्दों मे,
कैसे, सारा, प्यार लिखुँ प्यारे !!

#prakashgadia
Question of the day
भगवान शिव के शिवलिंग पर सुध क्यों चढ़ाया जाता है ?
​मैं बनाऊँ चित्र तुम्हारा.....
​तुम चरित्र मेरा बना दो माता.....

​मै रोज तुम्हे सजाऊँ.....​
तुम जीवन मेरा सजा दो माता....

​जय श्री दुर्गा माँ....
#prakashgadia